Desh Bhakti Shayari in Hindi, देश भक्ति शायरी, Desh Bhakti Status

भारत माता की जय। हिंदुस्तान के हर एक नौजवान के सीने में देश भक्ति Desh Bhakti की ज्वाला को प्रज्वलित
रखने के लिए आज मैं देश भक्ति शायरी Desh Bhakti Shayari in HIndi लेकर आया हूँ। ये शायरी Shayari आपके अंदर एक आज लगा देगी।



आजादी की कीमत हमने अपने भाइयों की लहू देकर चुकायी है।  कितनी माताओ ने अपने बेटे को खोया, बहन ने अपने
भाई को, पत्नी ने अपने पति को और एक बेटी ने अपने पिता को तब जाकर हमने ये आजादी पायी है।  और आज भी इस
देश की सुरक्षा में रोज कोई ना कोई जवान अपना बलिदान देता है। 


उन्ही जवानों को ये देश भक्ति शायरी Desh Bhakti Shayari समर्पित है मेरी तरफ से। वैसे भी इस कुर्बानी को एक
नमन तो हम सारे  हिन्दुस्तानियों की तरफ से होना चाहिए। और हर एक भारतीय को अपने देश के प्रति देश भक्ति Desh Bhakti अपने दिल में जगा कर रखनी चाहिए ।


२६ जनवरी 26 Januaryऔर १५ अगस्त 15 August हमे आजादी की कीमत याद दिलाता है इसीलिए हमे इस दिन को पुरे सम्मान के साथ मानना चाहिए और अपना कर्त्तव्य
याद रखना चाहिए। 


इस देश भक्ति वाली हिंदी शायरी Desh Bhakti Hindi Shayari को आपके साथ शेयर कर के मेरी तरफ से अपने इस अनमोल मातृभूमि को एक नमन । अगर आपको पसंद आये तो इसे
और शेयर करे ताकि हम एक जज्बा अपने हिंदुस्तान के लिए सबके दिल में जगा के रखे ।

Latest Desh Bhakti Hindi Shayari for 26 January and 15 August

Desh Bhakti Shayari in Hindi

Desh Bhakti Shayari in Hindi

ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई,
मगर वतन से ख़ूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में लिपटकर ,सोने में सिमटकर मरे है कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता ।   

Desh Bhakti Shayari in Hindi



सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है 
देखना है जोर कितना बाजू-ऐ-कातिल में है ।
वक़्त आने दे बता देंगे तुझे ऐ आसमान,
हम अभी से क्या बताये क्या हमारे दिल में है । 

Desh Bhakti Hindi Shayari 2020


Desh Bhakti Hindi Shayari 2020



आओ झुक कर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है ।  

Desh Bhakti Hindi Shayari 2020



हर तूफ़ान को मोड़ देंगे,
जो हिंदुस्तान से टकराएगा,
चाहे सीना करना पड़े छल्ली,
हमारा तिरंगा हमेशा ऊँचा ही लहराएगा ।  

Hindi Shayari on Desh Bhakti



हम से ये न पूछो की,
कितना मेरा सम्मान है ।
हम तो उस देश के फूल है साहब,
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है । 

Hindi Shayari on Desh Bhakti



सीने में जूनून और आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ,
दुश्मन की सांसे थम जाए, आवाज़ में इतनी धमक रखता हूँ । 

देश भक्ति शायरी


देश भक्ति शायरी



इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाये रखना । 

देश भक्ति शायरी

नाज़ है उन जवानों पर,
जिसने देश को बिकने ना दिया,
खुद मर मिटे वतन के नाम पर,
देश का सर झुकने ना दिया ।  

Desh Bhakti Status


Desh Bhakti Status



फ़ना होने की इजाजत ली नहीं जाती,
ये वतन की मोह्हबत है जनाब,
पूछ के की नहीं जाती ।  

उन आँखों की दो बूंदों से सातो सागर हारे होंगे,
जब मेहंदी वाले हांथो ने मंगल-सूत्र उतारे होंगे । 

Desh Bhakti Hindi Shayari Download


Desh Bhakti Hindi Shayari Download



"जहाँ जवानों ने लहू देकर बनाया है एक आशियाँ,
उस जगह को हम एक शब्द में कहते है हिंदुस्तान ।"

"धन्य हुई वह मिटटी भी जिस पर तुमने जन्म लिया,
शीश झुकाये उस माता को जिसने तुम्हें जन्म  दिया ।"

Desh Bhakti Shayari Images

Desh Bhakti Shayari Images



सांस का हर सुमन है वतन के लिए,
ज़िंदगी ही हवन है वतन के लिए,
कह गयी फांसियों में फसी गर्दनें,
ये हमारा नमन है वतन के लिए ।  

26 January Desh Bhakti Shayari


न हिन्दू से, ना मुस्लमान से,
ये हिंदुस्तान तो बस बना है,
सरहद पर शहीद हुए जवान से ।  

15 August Desh Bhakti Hindi shayari



लहू से सींच कर हमने बनाया हिंदुस्तान है,
तिरंगे की शान में यह कुर्बान हर एक जान है । 

Closing Comment



ये देश भक्ति शायरी Desh Bhakti Shayari हमारे सारे जवानों को और भारत के हर एक नौजवान को समर्पित है । आपको भी ये जरूर पसंद आयी होगी। 

इसे जितना हो सके उतना शेयर करे। और देश भक्ति Desh Bhakti अपने दिल में हमेशा जगा कर रखे । अगर कल को देश पर कोई आंच भी आये तो हम अपना कतरा कतरा बहाने म थोड़ा
सा भी ना सोचे, बिलकुल भगत सिंह की तरह। 


 मेरी तरफ से हर एक भारतीय को सलाम, और सर झुका के दिल से नमन, क्युकी यही हमारी भारतीय संस्कृति है और
इसे पालन करना हमारा कर्त्तव्य है ।  

जय हिन्द, जय भारत ।

Read this also:-

Sharing is Caring.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ